Gulzar sayari

Gulzar sayari

Gulzar shayari

waqt bhi haar jate hai kai baar jajbaato se,
kitna bhi likho kuchna kuch baki reh jata hai,
_gulzar

वक़्त भी हार जाते है कई बार जज्बातो से ,
कितना भी लिखो कुछ ना कुछ बाकि रह जाता है ,
_gulzar


khuda ne pucha ki kya sja du us bewafa ko ,
humne bhi keh diya bas ,
mohabbat ho jaye kisi bewafa se
“zindagi gulzar hai”

खुदा ने पूछा की क्या सजा दू उस बेवफा को ,
हमने भी कह दिया बस ,
मोहब्बत हो जाये किसी बेवफा से
“ज़िन्दगी गुलज़ार है “

Read more :-

LOVE SHAYARI , MOTIVATIONAL SHAYARI ,and SAD SHAYARI ,MOVIES ,


dard ki apni bhi ek ada hai ,
vo bhi sehne valo par fida hai ,

दर्द की अपनी भी एक अदा है ,
वो भी सहने वालो पर फ़िदा है ,


sab ko malum hai bahar ki
hwa hai katil ,
yu katil se ulajhne ki
jarurt kya hai ,

सब को मालूम है बहार की
हवा है कातिल ,
यु कातिल से उलझने की
जरूरत क्या है ,


itna sasta or kha sauda milega ,
beej do jameen ko paudha milega ,

इतना सस्ता और कहा सौदा मिलेगा ,
बीज दो जमीन को पौधा मिलेगा ,


jhut kahu to lafzo
ka dum ghuta hai ,
such kahu to log
khafa ho jate hai ..

झूठ कहु तो लफ्ज़ो
का दम घुटा है ,
सच कहु तो लोग
खफा हो जाते है ..


rehne de udhar ,
ek mulakaat yu hi ,
suna hai udhar valo ,
ko log bhulaya nahi karte ,

रहने दे उधार ,
एक मुलाकात यु ही ,
सुना है उधार वालो ,
को लोग भुलाया नहीं करते ,


khushbu jese log mile afsane mai ,
ek purana khat khola anjane mai ,

खुशबु जैसे लोग मिले अफ़साने मे ,
एक पुराना खत खोला अनजाने मे ,


achi kitabe or ache log ,
turant samaj mai nahi aate ,
unhe padna padta hai ,
“gulzar”

अच्छी किताबे और अच्छे लोग ,
तुरंत समज मे नहीं आते ,
उन्हें पड़ना पड़ता है ,
“gulzar”


Leave a Reply