TERE ISHQ MEIN CORONA HO JAU

TERE ISHQ MAI CORONA HO JAU

TERE ISHQ MAI CORONA HO JAU
ki tere ishq mai corona ho jau
tu mujhe chu le or mai tera ho jau ,

abhi to hum tutte hai abhi to bikrana baki hai
abhi meri khawaisho ka ujadna baki hai

abhi to hum tutte hai abhi to bikrana baki hai
abhi meri khawaisho ka ujadna baki hai
or ye vishale yaar hai
yaha kiu tehar gaye tum
abhi to judai hai maut jesi
abi marna baki hai

todi si sa to kam karde ,
ya fir mere aanuso ko marham karde
or har waqt na rula tu mujhko
chahe haar raat tu meri matam karde

har waqt na rula tu mujhko
chahe haar raat tu meri matam karde
payar ki shidaat se na mar jau
apni ankho ko hi jam jam karde,

vo har patte mai hai
har phool ko rubai deti hai
koi bhi ho awaj har simat sunai deti hai
or ek din puch hi lia usne
sabak meri bewafai ka
or mene kaha mujhe har ladki
mai bs tu dikhai deti hai ,

tere mutabik mene apna tikhana bna rakha hai
tere mutabik mene apna tikhana bna rakha hai
badlo ko sja kar aasman mai asiana bna rakha hai

ek tu gya to kya hua
ek tu gya to kya hua
tere baad bhi mere lafzo ne ,
sari dunia ko deewana bana rakha hai

bhut tutta hai parinda ,
koi hadsa lgta hai
bhut tutta hai parinda ,
koi hadsa lgta hai
aankho mai ansuo hai ,
payar zinda lgta hai ,

bikrne ki khawaish aadhuri reh gai hai uski
bikrne ki khawaish aadhuri reh gai hai uski,
vo pagal hai bhut diljala lgta hai ,,

payar hona or payar karna fark hai
dil ka lgna or dil lgana fark hai
or aise jaoge mujhe shod kar tum
tutt jana or tod dena fark hai .
or lazim hai ye amal chodoge kese
yaad karna or yaad ana fark hai ..

TERE ISHQ MAI CORONA HO JAU POETRY WRITTEN BY DANISH RANA
TERE ISHQ MEIN CORONA HO, TERE ISHQ MEIN CORONA HO JAU, hindi shayari ,poetry in gtalks
tere ishq mai corona ho jau

READ MORE :- SAD SHAYARI ON LOVE,MOTIVATIONAL QUOTES ON LIFE,MOVIES

तेरे इश्क़ मई कोरोना हो जाऊ

तेरे इश्क़ मई कोरोना हो जाऊ
की तेरे इश्क़ मे कोरोना हो जाऊ
तू मुझे छू ले और मे तेरा हो जाऊ ,

अभी तो हम टूटे है अभी तो बिखरना बाकि है
अभी मेरी ख्वाईशो का उजाड़ना बाकि है

अभी तो हम टूटे है अभी तो बिखरना बाकि है
अभी मेरी ख्वाईशो का उजाड़ना बाकि है
और ये विषैले यार है
यहाँ किउ ठहर गए तुम
अभी तो जुदाई है मौत जैसी
अभी मरना बाकि है

तोड़ी सा तो कम करदे ,
या फिर मेरे आंसुओ को मरहम करदे
और हर वक़्त न रुला तू मुझको
चाहे हार रात तू मेरी मातम करदे

हर वक़्त न रुला तू मुझको
चाहे हार रात तू मेरी मातम करदे
प्यार ki शिदअत से न मर जाऊ
अपनी आँखों को ही जम जम करदे ,

वो हर पत्ते मे है
हर फूल को रुबाई देती है
कोई भी हो आवाज हर सिमट सुनाई देती है
और एक दिन पूछ ही लिए उसने
सबक मेरी बेवफाई का
और मेने कहा मुझे हर लड़की
मे बस तू दिखाई देती है ,

तेरे मुताबिक मेने अपना ठिकाना बना रखा है
तेरे मुताबिक मेने अपना ठिकाना बना रखा है
बादलो को सजा कर आसमान मे अशीयाना बना रखा है

एक तू गया तो क्या हुआ
एक तू गया तो क्या हुआ
तेरे बाद भी मेरे लफ्ज़ो ने ,
सारी दुनिया को दीवाना बना रखा है

बहुत टुटा है परिंदा ,
कोई हादसा लगता है
बहुत टुटा है परिंदा ,
कोई हादसा लगता है
आँखों मे आंसू है ,
प्यार ज़िंदा lgta है ,

बिकरने की खवाइश अधूरी रह गई है उसकी
बिकरने की खवाइश अधूरी रह गई है उसकी ,
वो पागल है बहुत दिलजला लगता है ,,

प्यार होना और प्यार करना फर्क है
दिल का लगना और दिल लगाना फर्क है
और ऐसे जाओगे मुझे छोड़ कर तुम
टूट जाना और तोड़ देना फर्क है .
और लाज़िम है ये अमल छोड़ोगे कैसे
याद करना और याद आना फर्क है ..

TERE ISHQ MEIN CORONA HO JAU

GTALKS YOUTUBE VIDEO :-

GTALKS, G TALKS HINDI POETRY , POETRY IN HINDI G TALKS , G TALKS SHAYARI , G TALKS LYRICS , G TALKS POETRY LYRCIS , GTALKS POERTY , GTALKSPOTERY LYRICS IN HINDI , TERE ISHQ MAI CORONA HO JAU GTALKS POETRY ,BEST POETRY , BEST POETRY IN HINDI , BEST GTALKS POETRY IN HINDI , GTALKS , G TALKS SHAYARI IN HINDI ,TERE ISHQ MAI CORONA HO JAU SHAYARI BY DINESH RANA,GTalks, #hindipoems ,#bestpoems

Leave a Reply